“क्या आप भी हैं अपनी खेती से परेशान? जानिए कैसे निशुल्क बोरिंग योजना से पाएं अपनी खेती का समय, श्रम और पैसा बचाने का फायदा”

उत्तर प्रदेश सरकार ने उत्तर प्रदेश निशुल्क बोरिंग योजना शुरू की है। इस योजना के तहत लोगों को निशुल्क बोरिंग की सुविधा प्रदान की जाएगी।

इस योजना के अंतर्गत सरकार उत्तर प्रदेश में निशुल्क बोरिंग के लिए रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए लोगों को नेशनल कॉल सेंटर द्वारा दिए गए फोन नंबर पर संपर्क करने की सलाह दे रही है। इसके लिए लोगों को अपने नाम, पता, मोबाइल नंबर और संबंधित जनपद का उल्लेख करना होगा।

योजना के तहत बोरिंग के लिए चयनित लोगों को विशेष जानकारी और संपर्क नंबर दिए जाएंगे। सरकार उन्हें निशुल्क बोरिंग के लिए उपलब्ध कराएगी।

योजना के लिए सरकार ने राज्य के सभी जिलों में निशुल्क बोरिंग का काम शुरू करने की योजना बनाई है। इसके तहत गांवों में नलकूप बनवाने के लिए लोगों को निशुल्क बोरिंग की सुविधा प्रदान की जाएगी।

उत्तर प्रदेश निशुल्क बोरिंग योजना उन लोगों के लिए जो निश्चित समय सीमा के अंदर नलकूप बनवाना चाहते हैं लेकिन उनके पास इसके लिए पैसे नहीं हैं। इस योजना के जरिए उन्हें निशुल्क बोरिंग की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।

योजना के तहत नलकूप बनवाने के लिए प्रत्येक वर्गमीटर पर 40 फीट के लिए लगभग 1,500 रुपये का खर्च आएगा। सरकार उत्तर प्रदेश में निशुल्क बोरिंग के माध्यम से नलकूप बनवाने के लिए 600 करोड़ रुपये का बजट रखी है।

योजना के अंतर्गत नलकूप बनवाने के लिए लोगों को कोई रजिस्ट्रेशन फीस नहीं देनी होगी। इससे ग्रामीण इलाकों में जल संसाधन के लिए सुगमता बढ़ेगी और प्राकृतिक आपदाओं से निपटने की क्षमता बढ़ेगी।

उत्तर प्रदेश सरकार इस योजना के माध्यम से न केवल ग्रामीण इलाकों में जल संसाधन के लिए सुगमता प्रदान करेगी, बल्कि इससे रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। निशुल्क बोरिंग कार्य के लिए जो स्थान प्रदान करेगा।

इससे स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे और उनकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। इस योजना से सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में जल संसाधन के विकास और जल संरक्षण की विस्तार तकनीक बढ़ाने के लक्ष्य को प्राप्त करने की उम्मीद है।

इस योजना के लाभ से उत्तर प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में नलकूप की संख्या बढ़ेगी और जल संसाधन के विकास के साथ ही स्वस्थ जीवन जीने के लिए महत्वपूर्ण जल संबंधी समस्याओं का भी समाधान होगा। यह योजना उन सभी लोगों के लिए उपयोगी होगी, जो नलकूप के लिए भारी राशि खर्च करने में असमर्थ होते हैं।

इस योजना से जल संसाधनों की बचत होगी और भूमि के पानी स्तर में भी सुधार होगा। इससे ग्रामीण क्षेत्रों में खेती के लिए नलकूप से पानी उपलब्ध होगा और जल संबंधी उत्पादन बढ़ेंगे।

इस योजना के अंतर्गत सरकार ने एक ऑनलाइन पोर्टल भी शुरू किया है, जिसमें लोगों को अपने नलकूप बनवाने के लिए ऑनलाइन आवेदन करने का विकल्प भी दिया जाएगा। इससे नलकूप बनवाने के लिए लोगों को समय और शुल्कों की बचत होगी।

UP Nishulk Boring Yojana 2023: Highlights

योजना का नामउत्तर प्रदेश निशुल्क बोरिंग योजना
लक्ष्यउत्तर प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में नलकूप निर्माण की सुविधा बढ़ाना
योजना की शुरुआत की गई1 फरवरी 2020
योजना के अंतर्गत नलकूप बनवाने के लिए उपलब्ध सुविधाएं1 निशुल्क नलकूप प्रति परिवार, नलकूप स्थल के लिए उपलब्ध जमीन और बोरिंग के लिए विशेषज्ञों की टीम
योजना के तहत नलकूप बनवाने के लिए आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन या जनपद के ग्रामीण कार्यालयों में उपलब्ध आवेदन पत्र
योजना से क्या लाभ होगा?ग्रामीण क्षेत्रों में जल संसाधन के विकास और संरक्षण, नलकूप से पानी की बचत, स्वस्थ जीवन के लिए महत्वपूर्ण जल संबंधी समस्याओं का समाधान, रोजगार के अवसर मिलना
योजना की खर्च संबंधी जानकारीकुल खर्च: 500 करोड़ रुपये, योजना के तहत प्रत्येक नलकूप का खर्च 15,000 रुपये का होगा

Benefits of UP Nishulk Boring Yojana 2023

यहां उत्तर प्रदेश निशुल्क बोरिंग योजना के लाभ की सूची है:

  • ग्रामीण क्षेत्रों में जल संसाधन के विकास और संरक्षण का समाधान होगा।
  • यह योजना नलकूप से पानी की बचत को बढ़ाएगी।
  • स्वस्थ जीवन के लिए महत्वपूर्ण जल संबंधी समस्याओं का समाधान होगा।
  • इस योजना से ग्रामीण क्षेत्रों में नलकूप निर्माण के लिए नई सुविधाएं उपलब्ध होंगी जो सीमित आर्थिक संसाधनों वाले लोगों के लिए लाभदायक होंगी।
  • इस योजना से ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के अवसर मिलेंगे।
  • यह योजना नलकूप निर्माण की लागत को कम करेगी और ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की आपूर्ति को सुनिश्चित करेगी।
  • इस योजना से ग्रामीण क्षेत्रों में नलकूपों के माध्यम से सिंचाई की सुविधा उपलब्ध होगी जिससे कृषि उत्पादकता में वृद्धि होगी।

Eligibility Criteria of UP Nishulk Boring Yojana 2023

यहां उत्तर प्रदेश निशुल्क बोरिंग योजना की पात्रता की सूची है:

  • इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए आवेदक का उत्तर प्रदेश का निवासी होना आवश्यक है।
  • योजना के लिए आवेदक का उम्र 18 वर्ष से अधिक होना चाहिए।
  • आवेदक का आधार कार्ड और पैन कार्ड होना आवश्यक है।
  • इस योजना के लिए किसान, राजकीय उद्योग एवं व्यापारी आदि समूहों को भी लाभार्थी बनाया गया है।
  • आवेदक के पास खेती और अन्य संबंधित कामों के लिए नलकूप निर्माण करने की जानकारी होना चाहिए।
  • आवेदक को योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

Documents Required for UP Nishulk Boring Yojana 2023

निशुल्क बोरिंग योजना के लिए आवेदन करने के लिए निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होती है:

  1. आधार कार्ड
  2. पैन कार्ड
  3. उत्तर प्रदेश निवास प्रमाण पत्र (UP Domicile Certificate)
  4. बैंक खाता विवरण (जो कि प्रमाणित होना आवश्यक है)
  5. फोटो (पासपोर्ट साइज)
  6. खेत के विवरण
  7. स्वीकृति पत्र (प्रधानमंत्री आवास योजना, किसान योजनाओं, मजदूर कल्याण योजना आदि)
  8. कुल आय की प्रमाणित प्रतिलिपि
  9. श्रम संबंधित विवरण
  10. जमीन के स्वामित्व के प्रमाण पत्र (जहाँ लागू हो)
How to Apply for UP Nishulk Boring Yojana 2023

निशुल्क बोरिंग योजना के लिए आवेदन करने के लिए निम्नलिखित स्टेप्स का पालन करें:

  1. योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://minorirrigationup.gov.in/ पर जाएँ।
  2. वेबसाइट पर “नया आवेदन” विकल्प पर क्लिक करें।
  3. आवेदन पत्र भरें।
  4. आवेदन पत्र में प्रदाय की गई सभी जानकारी और दस्तावेजों की जांच करें।
  5. उपयुक्त खंडों में अपनी जानकारी और अन्य विवरण दर्ज करें।
  6. आवेदन पत्र जमा करने से पहले उसे पूर्ण रूप से सत्यापित करें।
  7. आवेदन पत्र जमा करें और उसका प्रिंट आउट लें।
  8. स्थानीय अधिकारी की जांच के बाद, यदि आपका आवेदन स्वीकार होता है, तो आपको निशुल्क बोरिंग कार्य के लिए चयन किया जाएगा।

यदि आपको निशुल्क बोरिंग योजना के बारे में किसी भी प्रकार की सहायता या संदेह है, तो आप अपने स्थानीय जिला कृषि अधिकारी से संपर्क कर सकते हैं।

 

Leave a Comment